in

इतिहास का उपहास आरबीएससी के किताबों में मेवाड़ के गलत इतिहास को लेकर पंजाब के राज्यपाल ने राजस्थान के राज्यपाल को लिखा पत्र

इतिहास का उपहास
  • राज्यपाल कलराज मिश्र ने राजभवन में बुलाई इतिहासकारों और शिक्षाविदों की बैठक
  • शुक्रवार को राजभवन में इतिहासकारों और शिक्षाविदों की बैठक बुलाई( इतिहास का उपहास )

उदयपुर. पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर ने आरबीएससी की पुस्तकों में मेवाड़ के महाराणा उदयसिंह को बनवीर का हत्यारा और महाराणा प्रताप-अकबर के बीच हुए विश्व प्रसिद्ध हल्दी घाटी युद्ध के इतिहास के तथ्यों को गलत लिखने पर नाराजगी जाहिर की है।

राज्यपाल बदनौर ने गुरुवार काे राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र को पत्र लिखकर मांग की है कि वे इतिहासकारों और शिक्षाविदों की एक हाईलेवल कमेटी बनाएं और इतिहास का उपहास उड़ाने वाली गलतियों को सुधरवाएं।( इतिहास का उपहास )

ओएसडी गोविंद जायसवाल ने बताया कि राज्यपाल मिश्र ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए शुक्रवार को राजभवन में इतिहासकारों और शिक्षाविदों की बैठक बुलाई है। राज्यपाल बदनौर ने पत्र में लिखा है कि हाल ही में इतिहास की किताबों में जो परिवर्तन किया गया है उनमें तथ्यों को तोड़मरोड़ कर गलत सूचनाएं पेश की गई हैं।

मातृ भूमि की आन-बान-शान के लिए अपने प्राण देने वाले महाराणा प्रताप और महाराणा उदयसिंह की छवि को खराब करने का प्रयास है। हम अपने बच्चों को गलत तथ्य बता रहे हैं। गौरतलब है कि दैनिक भास्कर लगातार खबरें प्रकाशित कर इस मामले को उजागर करता आ रहा है।

इधर, मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के महामंत्री तनवीर सिंह कृष्णावत ने कहा है कि मेवाड़ के इतिहास से छेड़छाड़ करने वालों के खिलाफ सरकार सख्त कार्रवाई करे।( इतिहास का उपहास )

बदनाैर ने लिखा : मेवाड़ के महाराणा के बारे में गलत क्याें पढ़ा रहे हैं
पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर ने राज्यपाल मिश्र को भेजे पत्र में लिखा है कि आपकी जानकारी में लाना चाहता हूं कि आरबीएससी की पुस्तक में मेवाड़ के महान योद्धा महाराणा प्रताप और उदयसिंह द्वितीय के ऐतिहासिक तथ्य तोड़मरोड पर प्रस्तुत किए जा रहे हैं।

इन गलत तथ्यों के चलते मेवाड़ की जनता में भारी आक्रोश है। मुझे यह जानकर दर्द हो रहा है कि मेवाड़ के महाराणा के खिलाफ ऐसा गलत लिखा है।

विश्व प्रसिद्ध हल्दीघाटी युद्ध के तथ्यों को भी गलत लिखा गया है। मुझे यह सूचना दी गई है कि कक्षा-10वीं की पुस्तक के अध्याय राजस्थान का इतिहास और संस्कृति में महाराणा उदयसिंह द्वितीय को बनवीर का हत्यारा बताया गया है। महाराणा उदयसिंह ने यह कृत्य मेवाड़ पर कब्जा करने के लिए किया था। जबकि सही तथ्य है कि असली साजिश बनवीर ने रची थी। ( इतिहास का उपहास )

महाराणा प्रताप पर पंजाब में हाे रहा है शोध : बदनौर ने पत्र में लिखा है कि पंजाब में एक राज्य स्तरीय महोत्सव महान योद्धा महाराणा प्रताप काे लेकर मनाया जा रहा है। मेरी अनुशंषा पर पंजाब सरकार ने महाराणा प्रताप चेयर पंजाबी विवि पटियाला में 2017 में स्थापित कराई थी।

इससे पंजाब-राजस्थान के इतिहासकार अपने तथ्यों का आदान-प्रदान कर शोध कर सकते हैं। पटियाला विवि में महाराणा प्रताप पर शोध हो रहा है।

मावली विधायक ने शिक्षा मंत्री से पाठ्यक्रम में ऐतिहासिक तथ्याें काे सही रूप में प्रस्तुत करने की मांग की
माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के पाठ्यक्रम में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ के मामले में मावली विधायक धर्मनारायण जोशी ने गुरुवार को शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा से मुलाकात कर चर्चा की। ( इतिहास का उपहास )

उन्हाेंने पाठ्यपुस्तकों में मेवाड़ के इतिहास, महाराणा प्रताप, महारानी पद्मिनी से संबंधित वर्णन को ऐतिहासिक तथ्याें के साथ सही रूप में प्रस्तुत करने की मांग की। शिक्षा मंत्री ने भी आश्वासन देते हुए कहा कि सरकार ने सभी पक्षों की आपत्तियों पर पूर्व में भी पाठ्यक्रम में परिवर्तन किया है। साथ ही और सुझाव लेने की भी बात कही।

( इतिहास का उपहास )

What do you think?

Written by priyanka singh

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0
गुरुपूर्णिमा

गुरुपूर्णिमा / गुरु होगे माेबाइल पर, लाइव आशीर्वाद भी मिलेगा

मेवाड़ के इतिहास पर फिर बवाल

मेवाड़ के इतिहास पर फिर बवाल, शिक्षा मंत्री ने BJP पर बोला हमला