in

गुरुपूर्णिमा / गुरु होगे माेबाइल पर, लाइव आशीर्वाद भी मिलेगा

गुरुपूर्णिमा
·         जिलेभर के सभी गुरु, संत, साधु, मठाधीश और आचार्य की लिस्ट बना रहा प्रशासन( गुरुपूर्णिमा)

 

डूंगरपुर. इस बार गुरुपूर्णिमा पर आपके गुरु काेराेना से बचाव की अपील और सरकार की ओर से जारी नियमाें की पालना का वचन आपसे बताैर गुरु दीक्षा मांगे ताे आश्चर्य मत करना। इस बाद प्रशासन ने जागरूकता अभियान में गुरु पूर्णिमा पर्व साेशल डिस्टेसिंग के साथ मनाने पर विचार किया है।( गुरुपूर्णिमा )

इसके लिए 5 जुलाई काे जिलेभर के महंत, गादिपति, मठाधीश, आचार्य, साधु, संत और तपस्वी की लिस्टिंग तैयार की जा रही है। प्रशासन की ओर से लाेगाें की भावना काे ध्यान में रखते हुए  विशेष कार्य करने का प्लान बनाया है। इसमें सभी धर्म गुरु अपने शिष्यों काे काेराेना से बचाव का संदेश देंगे।

गुरु दीक्षा में लाेगाें काे काेराेना से बचाव के उपाय का संदेश देंगे। राज्य सरकार की ओर से 21 जून से काेराेना जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। जाे पूर्व में 30 जून तक था अब इसे बढ़ाकर 7 जुलाई तक कर दिया गया है।

इस तरह शिष्यों तक पहुंचेगा संदेश
प्रशासन की ओर से बेणेश्वर धाम सहित बडे़ तीर्थस्थल पर स्थित धर्म गुरु के प्रवचर फेसबुक या अन्य साेशल मीडिया पर लाइव करने की प्लानिंग कर रहे है। इससे इन गुरु के पास शिष्याें की भीड़ एकत्रित नहीं हाे। साेशल मीडिया पर लाइव करने से लाेगाे काे अपने गुरु के दर्शन के साथ ही घर से बाहर निकलने की जरूरत नहीं हाेगी। सीधे माेबाइल, लेपटाॅप पर दर्शन प्राप्त कर संदेश काे सुन सकेंगे। इसमें प्रशासन की ओर से राजस्व अधिकारियाें काे जिम्मेदारी तय की जाएगी। धर्म गुरु के स्थान पर ज्यादा भीड़ नहीं हाे। ( गुरुपूर्णिमा )

  •  पहली बार गुरुपूर्णिमा पर जिलेभर के गुरु-शिष्य कार्यक्रम काे साेशल मीडिया पर लाइव करने का प्लान चल रहा है।  गुरुपूर्णिमा पर भीड़ काे कम करने पर काम किया जाएगा।   काेई भी शिष्य भीड़ करके अपने गुरु काे काेराेना बीमारी नहीं देगा। – कृष्णपालसिंह , एडीएम डूंगरपुर।
( गुरुपूर्णिमा )

What do you think?

Written by priyanka singh

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0
मिशन वंदे भारत

मिशन वंदे भारत / आज पहला विमान कुवैत के 170 प्रवासी भारतीयों को लेकर रवाना होगा, उदयपुर में लैंडिंग होने पर संशय

इतिहास का उपहास

इतिहास का उपहास आरबीएससी के किताबों में मेवाड़ के गलत इतिहास को लेकर पंजाब के राज्यपाल ने राजस्थान के राज्यपाल को लिखा पत्र