in

कोरोना कोहराम के बीच बड़ी चूक / पीटा एक्ट में गिरफ्तार संक्रमित युवती शहर से नदारद, देर शाम तक सुराग नहीं, दूसरा युवक गुड़गांव पहुंचा, अब वहीं अस्पताल में भर्ती

कोरोना कोहराम के बीच बड़ी चूक
  • 17 नए संक्रमित, एक्टिव केस फिर 100 के पार
  • शहर छोड़ने के बाद पॉजिटिव आई गिरफ्तार युवती और एक अन्य युवक की कोरोना रिपोर्ट

उदयपुर. शहर में शनिवार को कोरोना के 17 नए मरीज मिले। संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच चिकित्सा विभाग की भारी चूक सामने आई है।( कोरोना कोहराम के बीच बड़ी चूक )

पीटा एक्ट में गिरफ्तारी के बाद जमानत पर रिहा दिल्ली की युवती ने शहर छोड़ दिया। उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।

दूसरी ओर, उदियापोल स्थित होटल सागर पैलेस के मृतक कार्मिक के संपर्क में आया 31 वर्षीय युवक भी संक्रमित मिला है।

यह युवक टैक्सी लेकर गुड़गांव पहुंच गया। सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी ने बताया कि होटल को सीज कर दिया है। सिटी कोविड प्रभारी डॉ. एसएल बामनिया ने बताया कि पीटा एक्ट में गिरफ्तार कोरोना पीड़ित दिल्ली की युवती एसिंप्टोमैटिक थी। ( कोरोना कोहराम के बीच बड़ी चूक )

उसे अस्पताल में भर्ती कराने के लिए चिकित्सा टीमें दिनभर इधर-उधर दौड़ती रहीं, लेकिन युवती का सुराग नहीं लग सका है।

पुलिस मोबाइल लोकेशन के आधार पर उसे तलाश कर रही है।

बता दें, चार दिन में 68 कोरोना केस सामने आने के साथ एक तरफ संक्रमितों की संख्या 771 पर जा पहुंची है, जबकि दूसरी ओर 5 जून के बाद एक्टिव केस 103 हो गए हैं।

चिकित्सा विभाग की अपील- युवती के संपर्क में आने वाले आगे आकर जांच कराएं

डॉ. बामनिया ने अपील की है कि पीटा एक्ट में गिरफ्तार युवती सहित अन्य सभी संक्रमितों के संपर्क में आने वाले लोग अपनी व अपने परिवार की हिफाजत के लिए कोरोना टेस्ट कराने के लिए आगे आएं ताकि संक्रमण की चेन तोड़ी जा सके। ( कोरोना कोहराम के बीच बड़ी चूक )

जवाहर नगर में 99 कोरोना संदिग्धों की सैंपलिंग की गई। सेक्टर-4 में 79, पुलिस लाइन में 77, चांदपोल में 34 और कृषि मंडी में 45 कोरोना संदिग्धों की सैंपलिंग की गई है।कोरोना कोहराम के बीच बड़ी चूक

इस बीच कोरोना से ईएसआईसी अस्पताल में दम तोड़ने वाले हाल होटल सागर पैलेस और मूल जयपुर निवासी पुरुष के पॉलीथिन पैक शव का अंतिम संस्कार अशोक नगर श्मशान स्थित गैस शवदाहगृह में किया गया।

जयपुर से आई उसकी 19 वर्षीय बेटी ने अंत्येष्टि की। कोरोना संक्रमण के चलते बेटी अपने पिता का आखिरी समय पर भी चेहरा तक नहीं देख सकी।कोरोना कोहराम के बीच बड़ी चूक

कोरोना कोहराम के बीच बड़ी चूक

What do you think?

Written by priyanka singh

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0
प्रतापगढ़ जेल में तीसरी बार कोरोना

प्रतापगढ़ जेल में तीसरी बार कोरोना विस्फोट / 48 नए कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद 122 पहुंची जेल के संक्रमितों की संख्या, देर रात आई रिपोर्ट में खुलासा

( अधिकारियों को दिए निर्देश )

निर्देश / अपर मंडल रेल प्रबंधक ने दुर्घटना राहत व मेडिकल यान का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए निर्देश